मोदी सरकार का दीवाली गिफ्ट, नियमित होंगी दिल्ली की अवैध कॉलोनियां

Hardeep Puri Union Minister for Housing & Urban Affairs Delhi illegal colonies

राजनीति में जो कुछ भी किया जाता है वह यदि बहुजान हिताय बहुजन सुखाय हो तो सोने पे सुहागे वाली बात हो जाती है।  राजनीतिक दल दनता के पास जब जाते है तो चाहते है कि जनता को देने के लिए उसके गुलदस्ते में बेहतरीन फूल हों। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने दिल्ली की जनता को दिवाली का बेहतरीन तोहफा दिया है। केंद्रीय कैबिनेट मीटिंग में दिल्ली की अधिकांश अवैध कॉलोनियों को नियमित करने के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी गई है। इसका फायदा यह होगा कि इससे यहां रह रहे 40 लाख लोगों को ऑनरशिप का अधिकार मिल जाएगा। इन्हें अब अपने आशियाने को खोने का डर नहीं सताएगा।

इन कॉलोनियों में रह रहे लोग लंबे समय से इसकी मांग कर रहे थे। शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि झुग्गीवासी जहां भी रहते हैं वह चाहे निजी हो या सरकारी उसका मालिकाना हक उन्हें देने का फैसला किया गया है। 1947 में दिल्ली की जनसंख्या 8 लाख थी। बंटवारे के बाद यहां बड़ी संख्या में रिफ्यूजी आए। आज एनसीआर की जनसंख्या 2 करोड़ है। 2008 में इसके लिए आखिरी बार प्रयास किया गया था। पुरी ने कहा कि ऑनरशिप मिलने के बाद इन कॉलोनियों को विकास होगा। उन्होंने कहा कि इसके बाद सड़कें बनेंगी, सीवर बनेगा, पार्क बनेगा। उन्होंने कहा कि बेहद मामूली रेट पर जमीन की रजिस्ट्री होगी। पुरी ने कहा कि इस फैसले को जल्दी से लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार संसद के अगले सत्र में बिल लाएगी। जैसे ही बिल पास होगा डीडीए इसपर काम करना शुरू कर देगी।

Read Also :  जानबूझ कर कोरोना फैलाने वालों पर योगी सरकार का फरमान, होगा आजीवन कारावास

हम बता दें कि दिल्ली की 1797 अनधिकृत कॉलोनियों में रह रहे लोगों के लिए यह बड़ी राहत है। केंद्र सरकार लंबे समय से इन कॉलोनियों को नियमित करने की तैयारी कर रही थी। मोदी सरकार ने भी अपने 100 दिन के एजेंडे में इस मुद्दे को प्रमुखता से रखा था।  बुधवार को शहरी विकास मंत्रालय की तरफ से रखे गए नोट को उपराज्यपाल की अगुवाई वाली कमिटी ने तैयार किया था। इस कमिटी के गठन के समय सरकार ने कहा था कि कमिटी उन उपायों को सुझाएगी, जिनके जरिए इन कॉलोनियों में रहने वालों को मालिकाना हक दिया जा सके।

Read Also :  दिल्ली की हवा बेहद खतरनाक स्तर पर, पीएमओ हुआ एक्टिव



दिल्ली क्षेत्र में आनेवाली तीन सम्पन्न कॉलोनियों को नियमित करने को लेकर अभी भी सस्पेंस बना हुआ है। ये कॉलोनियां अनंत राम डेयरी, महेंद्रू ऐन्क्लेव और सैनिक फॉर्म हैं। सरकार अभी इन कॉलोनियों को नियमित करने को लेकर किसी जल्दबाजी में नहीं है। इसके अलावा इसमें उन कॉलोनियों को लेकर भी कोई फैसला नहीं हुआ है, जो वन्य जमीन पर बनी हैं।

सरकार का यह फैसला  आम जनता जो अपने मिहनत से कमाए हुए पैसों से तिनका तिनका जोड़ कर आशियाना बनाती है, के लिए बेहद सुकून भरा है।